Contact for Advertisement 9650503773


हरियाणा: जिला प्रशासन डिपो पर राशन आपूर्ति के लिए रास्ते व सुरक्षा प्रदान करें-सोढी 

- Photo by : NCR Samachar

हरियाणा  Published by: Inderjeet , Date: 20/02/2024 01:44:06 pm Share:
  • हरियाणा
  • Published by: Inderjeet ,
  • Date:
  • 20/02/2024 01:44:06 pm
Share:

संक्षेप

हरियाणा: कालांवाली किसान आंदोलन का प्रभाव लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर भी पड़ रहा है। पंजाब क्षेत्र के साथ ही लगते कालांवाली-डबवाली केन्द्र के अधिकांश डिपूओं पर राशन की आपूर्ति नहीं हो पाई।

विस्तार

हरियाणा: कालांवाली किसान आंदोलन का प्रभाव लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर भी पड़ रहा है। पंजाब क्षेत्र के साथ ही लगते कालांवाली-डबवाली केन्द्र के अधिकांश डिपूओं पर राशन की आपूर्ति नहीं हो पाई। जिला सिरसा के डिपूओं पर राशन सप्लाई-कर्ता कान्फैड परिवहन ठेकेदार सालासर बालाजी ट्रांसपोर्ट कम्पनी के मालिक ने डिपूओं पर राशन आपूर्ति में हो रही समस्या वारे जिला नियंत्रक खाद्य एवं पूर्ति विभाग को पत्र लिखकर अवगत करवाया है कि कालांवाली केन्द्र के डिपूओं पर बाजरे की आपूर्ति करना संभव नहीं हो रहा क्योंकि किसान आंदोलन कारण सिरसा से कालांवाली के सभी मुख्य रास्ते बन्द हैं तथा लिंक रोडों के रास्तों पर स्थानीय लोग सड़क खराब होने व पूलिया आदि टूटने का अंदेशा करके लोड़ गाडियां के आवागमन को रोकते हैं तथा पंजाब सीमा के रास्ते होकर जाने पर पंजाब पुलिस भी गाडियां नहीं जाने दे रही। जिससे निर्धारित समय में डिपूओं पर बाजरे (राशन) की सप्लाई नहीं हो रही। 

उल्लेखनीय है कि, फरवरी माह के कुछ मात्र दिन ही शेष हैं परन्तु सात जिलों में नेट सेवाएं सस्पेंड होने तथा रास्ते बन्द होने कारण राशन आपूर्ति ना होने के चलते राशन वितरण प्रणाली ठप्प हो गई है। जरूरतमंद बीपीएल परिवार राशन के लिए डिपूओं के चक्कर काट रहे हैं। उन बीपीएल परिवारों को ज्यादा मुश्किल हो रही है जिनका गुजारा डिपू के राशन से ही होता था। आल राशन डिपो होल्डर वेलफेयर एसोसिएशन हरियाणा के प्रदेश मिडिया प्रभारी गुरतेज सिंह सोढ़ी ने जिला प्रशासन से मांग करते हुए कहा है कि डिपूओं की राशन आपूर्ति आवश्यक खाद्य वस्तुएं के अन्तर्गत आती है अतः प्रशासन कान्फैड परिवहन ठेकेदार को रास्ते व सुरक्षा प्रदान करके राशन आपूर्ति का प्रबन्ध करे अन्यथा गरीब जरूरतमंद बीपीएल परिवार डिपूओं के राशन से बंचित रह जाएंगे।